SUMMARY OF THE RULES OF CAMELOT

In the Hindi Language

 

Text and Diagrams 1999-2012 Michael Wortley Nolan and the World Camelot Federation

Translation courtesy of Alok Mahendroo

 

(Please note that what follows is the translation of a general summary of Camelot rules; it is not a translation of the World Camelot Federation Official Rules of Camelot.)

 

कैमलोट दो खिलाडीयों के बीच खेला जाता है, जो 160 बराबर वर्गों में बंटी बिसात पर बारी-बारी खेलते हैं | हर खिलाडी को अपना किला बचाना होता है, जो कि उसके अपने सिरे पर, बिसात के आखरी दो वर्गों में होता है खेल के आरंभ में  प्रत्येक खिलाडी के पास 14 गोटीयों होती हैं : 4 घोड़े और 10 सिपाही |

 

शुरुआत की स्थिति

 

चालें चार प्रकार की होती हैं :

 

1.      साधारण चाल : खिलाडी कोई भी गोटी (सिपाही या घोडा) किसी भी दिशा में एक खाली घर में चल सकता है |

 

साधारण चाल

 

2. सरपट (कैन्टर) : एक गोटी (सिपाही या घोडा) किसी भी दिशा में, अपनी किसी और गोटी के ऊपर से, उसके साथ वाले खाली घर में छलांग मार कर जा सकता है | जिस गोटी के ऊपर से छलांग मारी जाती है वह जहां की तहां रहती है, उसे हटाया नहीं जाता | खिलाडी एक ही चाल में, एक से ज्यादा गोटीयों के ऊपर से छलांग मार सकता है | खिलाडी जिस वर्ग से  सरपट चाल शुरू करता है, वहीं पर चाल खत्म नहीं कर सकता | सरपट चाल चलना जरूरी नहीं है, यह इच्छा अनुसार चली जा सकती है |

 

                      

 

सरपट (कैन्टर)                                      सरपट (कैन्टर) के बाद

 

3. छलांग : एक गोटी (सिपाही या घोडा) किसी भी दिशा में, अपने साथ के वर्ग में पड़ी, विपक्षी की गोटी के ऊपर से छलांग मार कर, उसके साथ के खाली वर्ग में जा सकती है | ऐसा करने से विपक्षी की गोटी को खेल से हटा दिया जायेगा | खिलाडी को छलांग मारनी पड़ेगी, अगर, उसकी कोई गोटी विपक्षी की गोटी के साथ में पड़ी है जिसके साथ का वर्ग खाली है | एक छलांग मारने के बाद अगर खिलाडी का सामना फिर विपक्षी की गोटी के साथ होता है जिसके साथ का वर्ग खाली है, तो उसे फिर छलांग मारनी होगी | खेल में इस बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिए कि किस गोटी का इस्तेमाल छलांग मारने के लिये करना चाहिए और शत्रु की किन गोटीयों को बन्दी बनाना चाहिए | अगर खिलाडी छलांग मारने को विवश हो, तो उसे घोड़े की 'धावा' चाल से दुश्मन के सैनिक बन्दी बनाने की कोशिश करनी चाहिए | खिलाडी, छलांग मारने की चाल सिर्फ तभी छोड़ सकता है, जब उसने पिछली चाल में दुश्मन के सैनिक के ऊपर से छलांग मार कर अपने ही किले में प्रवेश कर लिया हो | इस स्थिति में उसे पहले अपनी गोटी को किले से बाहर निकालना होगा |

 

                      
छलांग                                                    छलांग के बाद

 

4.  धावा : घोडा अपनी एक ही चाल में सरपट और छलांग की दोहरी चाल चल सकता है | घोड़े की धावा चाल में हमेशा पहले सरपट और फिर छलांग की चाल चली जाती है | यह जरूरी नहीं है कि घोड़े को धावा चाल ही चलनी पड़ेगी, यह सिर्फ उस स्थिति में अनिवार्य है जब घोड़े की सरपट चाल उसे शत्रु की किसी गोटी के साथ में ले आये, यह सिर्फ उस स्थिति में अनिवार्य नहीं है, अगर उसी चाल में वह शत्रु की किसी और गोटी को बन्दी बना सके | अगर वहाँ एक से ज्यादा शत्रु के सैनिक हैं तो खिलाडी उन में से किसी के भी ऊपर छलांग की चाल चल सकता है, और यह सिलसिला तब तक चलता रहेगा जब तक उसकी हर छलांग की चाल उसे शत्रु की ऐसी गोटी के पास ले आये जिस के ऊपर से छलांग मारी जा सकती है |

 

                              

घोड़े की धावा चाल                                      घोड़े की धावा चाल के बाद

 

खिलाडी कभी भी साधारण या सरपट चाल चल कर, अपने किले में प्रवेश नहीं कर सकता है | वह सिर्फ छलांग या धावा चाल चलते समय ही छलांग मार कर अपने किले में प्रवेश कर सकता है, और हो सके तो उसी समय छलांग मार कर किले से बाहर निकल जाना चाहिए | कोई भी खिलाडी अगर अपने किले में प्रवेश करता है तो उसके लिये यह अनिवार्य है कि वह तुरन्त किले से बाहर निकल जाये और हो सके तो छलांग मार कर ही निकले, न कि सरपट या साधारण चाल द्वारा |

 

जब कोई गोटी अपने शत्रु के किले में प्रवेश कर जाये तो वह बाहर नहीं निकल सकती, पर वह किले के एक वर्ग से दूसरे वर्ग में जा सकती है |

 

यह खेल तीन तरीकों से जीता जा सकता है :

 

 

1.      खिलाडी शत्रु के किले पर अपनी दो गोटीयों के साथ कब्ज़ा कर लेता है |

 

 उदाहरण : सफ़ेद खिलाडी, काले खिलाडी के किले में अपनी दो गोटीयां पहुँचा देता है

 

 2.  खिलाडी शत्रु की सारी गोटीयों को बन्दी बना लेता है और उसकी अपनी दो या ज्यादा गोटीयां अभी बिसात पर हैं|

 

  

उदाहरण : सफ़ेद जीत जाता है जब वह काले खिलाडी की सारी गोटीयों को बन्दी बना लेता है |

 

3.      खिलाडी के पास दो या ज्यादा गोटीयां बची हैं और शत्रु कोई भी चाल चल नहीं सकता |


उदाहरण: सफ़ेद जीत जाएगा अगर काले खिलाडी के पास कोई भी चाल न हो

 

बराबरी का परिणाम : खेल में बराबरी का परिणाम तभी माना जा सकता है जब दोनों खिलाडीयों के पास एक ही गोटी बच जाती है |

 


बराबरी का परिणाम